संस्थान परियोजनाएँ

प्रमुख पर्वतीय फसलों की उत्पादकता में वृद्धि

  • उच्च उत्पादकता, गुणवत्ता, जैविक और अजैविक तनावों के लिए मक्का में आनुवंशिक सुधार
  • उच्च उत्पादकता, गुणवत्ता, जैविक और अजैविक तनावों के लिए धान में आनुवंशिक सुधार
  • उच्च उत्पादकता, गुणवत्ता, जैविक और अजैविक तनावों के लिए गेहूँ और जौ में आनुवंशिक सुधार
  • उच्च उत्पादकता, गुणवत्ता, जैविक और अजैविक तनावों के लिए कदन्न (स्माल मिलेट) तथा कम उपयोग में लाई गई फसलों का आनुवंशिक सुधार
  • उच्च उत्पादकता, गुणवत्ता, जैविक और अजैविक तनावों के लिए दलहन और तिलहनी फसलों का आनुवंशिक सुधार
  • उच्च उत्पादकता, गुणवत्ता, जैविक तनावों तथा गुण विषेशताओं के लिए सब्जियों का आनुवंशिक सुधार
  • आण्विक तकनीकों का उपयोग करते हुए जैविक तनावों और गुणवत्ता विषेशताओं के लिए प्रमुख पर्वतीय फसलों के आनुवंषिक सुधार हेतु मूलभूत एवं सामरिक अनुसंधान
  • बीज उत्पादन

टिकाऊ उत्पादन के लिए प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन

  • पर्वतीय फसलों की उत्पादकता बढ़ाने हेतु मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन
  • विविधीकरण तथा प्रभावी संसाधन उपादेयता के माध्यम से प्रमुख पर्वतीय फसलों की उपज संवृद्धि
  • संरक्षण कृषि पर विशेष बल देते हुए फसल उत्पादकता में वृद्धि करना
  • पर्वतीय कृषि में फसल उत्पादकता बढ़ाने के लिए पादप वृद्धि प्रोत्साहक बैक्टीरिया (पीजीपीबी) का उपयोग
  • उपयुक्त कृषि उपकरणों तथा मशीनों के विकास द्वारा पर्वतीय कृषि का यंत्रीकरण
  • सीमांत और बंजर भूमि उपयोग के विशिष्ट संदर्भ में चारा उत्पादन प्रबंधन
  • उत्पादन एवं आदान उपयोग दक्षता बढ़ाने हेतु समेकित जल एवं मृदा प्रबंधन

समेकित नाशीजीव प्रबंधन

  • संरक्षित खेती के अन्तर्गत मुख्य रोग एवं कीट नाशीजीव के लिए लागत प्रभावी प्रबंधन कार्यनीतियों का विकास
  • विविध सब्जी फसलीकरण अनुक्रम के अन्तर्गत मुख्य मृदाजनित रोगों का प्रबंधन
  • मुख्य पर्वतीय फसलों में चूषक नाशीजीव के लिए समेकित नाशीजीव प्रबंधन

सामाजिक-आर्थिक अध्ययन,प्रौद्योगिकी हस्तांतरण एवं सूचना प्रौद्योगिकी

  • पर्वतीय कृषि और प्रसार विधियों के सामाजिक-आर्थिक पहलुओं पर अध्ययन
  • पर्वतीय कृषिरत महिलाओं के कठिन श्रम वाले कार्यकलापों तथा पोशण स्तर का आंकलन
  • कृषि में सूचना संचार प्रौद्योगिकी एवं ज्ञान प्रबंधन

पृष्ठ आखरी अपडेट : 08-06-2017